24 घंटे तक ठंड से लड़ती रही नवजात, ठिठुरती बच्ची को झाड़ियों से उठा लाई महिला, जिला अस्पताल में चल रहा इलाज

0
65
.

महोबा: यूपी के महोबा में दो दिन की नवजात बच्ची को ठिठुरती सर्दी में नंगे बदन छोड़कर चले गए। मासूम की रोने की आवाज सुनकर स्थानीय महिला ने झाड़ियों के पीछे जाकर देखा तो हैरान रह गई। उसने तुरंत ही बच्ची को उठाकर सीने से लगा लिया और तत्काल पुलिस को सूचना दे दी। नवजात बच्ची को पुलिस की मौजूदगी में महिला जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जहां उसका इलाज हो रहा है।

मां ने मरने के लिए छोड़ा
महोबा के महिला जिला अस्पताल के बच्चा वार्ड में दो दिन की मासूम बच्ची को भर्ती कराया गया है। उसे यह एहसास ही नहीं है कि उसकी मां उसे झाड़ियों में मरने के लिए ही फेंककर चली गई।

झाड़ियों में ठंड से ठिठुरती रही बच्ची
यह पूरा मामला शहर कोतवाली क्षेत्र के एसपी आवास स्थित कांशीराम कॉलोनी का है। बताया जाता है कि कांशीराम कॉलोनी में रहने वाली शकुंतला सुबह-सुबह घरेलू काम से जा रही थी तभी उसे झाड़ियों के पास रोने की आवाज सुनाई दी। महिला बताती है कि वह जैसे ही झाड़ियों के पास पहुंची तो वहां का दृश्य देखकर दंग रह गई, दो दिन की मासूम बच्ची नंगे बदन झाड़ियों में पड़ी रो रही थी।

कोतवाली पुलिस को सूचना दी
इस हाड़ कपाऊ सर्दी में मासूम को तड़पता देख शकुंतला का दिल पसीज गया और उसने उसे उठाकर सीने से लगा लिया और तत्काल ठंड से बचाव के लिए उसकी हीटर से सिकाई की और शहर कोतवाली पुलिस को भी सूचना दे दी। मौके पर पहुंची डायल 112 पीआरबी पुलिस ने मासूम बच्ची के बारे में आसपास पूछताछ की।

आसपास के लोगों की भीड़ जुट गई
वहीं, नवजात की गंभीर हालत को देखकर उसे महिला जिला अस्पताल के बच्चा वार्ड में भर्ती कराया गया है। झाड़ियों में नवजात बच्ची के मिलने की सूचना से आसपास के लोगों की भीड़ इकट्‌ठा हो गई। जिस महिला शकुंतला को बच्ची पड़ी मिली वह उसे अब गोद लेने की बात कह रही है। बहरहाल, पुलिस इस पूरे मामले की जांच कर रही है।

.