जिंदगी में मां बनने का सुख क्या होता है. ये एक मां से बेहतर और कौन जान सकता है. हर लड़की के लिए मां बनना, एक नया जन्म लेने के बराबर होता है. इस अनमोल रिश्ते को हर मां सहेज कर रखती है. आपने ये सुना होगा कि भगवान हर जगह नहीं पहुंच सकते इसलिए उन्होंने धरती पर मां को अपने रूप में भेजा है. बॉलीवुड (Bollywood) में यूं तो हजारों ऐसी महिलाएं जिन्होंने पति से अलग होकर बच्चों की अकेले परवरिश की लेकिन ऐसी भी अभिनेत्रियां हैं, जिन्होंने शादी किए बिना अनाथ बच्चों को गोद लिया और उनकी देखभाल कर रहीं हैं.



पिछले कुछ सालों में हमारे समाज में कई तरह के बदलाव हमें देखने को मिले हैं. लोगों की सोच बदली और लोग आगे बढ़ने लगे. महिलाओं ने भारतीय समाज ने कई परंपराओं को तोड़ा. कुछ सालों में समाज में आये बदलाव के कारण महिलाओं ने अपनी सीमा रेखा लांघकर एक नया सफर तय किया है. इस लंबे और कठिन सफर के बाद आज की महिलाएं अपनी मर्जी से अपने फैसले लेने के लिए सक्षम हैं. इन्हीं में से एक बड़ा फैसला अनाथ बच्चों को गोद लेना का रहा

बॉलीवुड (Bollywood) में इन बच्चों को नया नाम देने के लिए जब भी किसी अभिनेत्री के बारें में बात की जाती है तो सबसे पहला नाम मिस यूनिवर्स रहीं सुष्मिता सेन (Sushmita Sen) का आता हैं. सुष्मिता सेन ने आज तक शादी नहीं की लेकिन वो दो बेटियों की मां हैं. उन्होंने महज 25 साल की उम्र में पहली बेटी रेनी को गोद लिया था. उसका पालन पोषण किया और फिर 10 साल बाद दूसरी बेटी अलीशा को गोद लिया. वो आज भी दोनों बेटियों की अकेले परवरिश कर रही हैं.

यूं तो रवीना टंडन ने साल 2004 में शादी कर ली थी, लेकिन शादी करने से पहले उन्होंने दो बेटियों को गोद लिया था. बड़ी बेटी छाया और छोटी बेटी का नाम पूजा है. पिछले साल उनकी बड़ी बेटी छाया ने बेटे को जन्म दिया है. रवीना आज चार बच्चों की मां हैं. शादी के बाद पति अनिल ठडानी से उनकी एक बेटी राशा और बेटा रणबीर है.