सरकारी नियुक्तियों की चयन प्रक्रिया में किसी भी प्रकार की अनियमितता नहीं होने दी जायेगी- नवनीत सहगल

0
38
.

लखनऊ. अपर मुख्य सचिव ‘सूचना’ नवनीत सहगल ने बताया कि मुख्यमंत्री के 3टी ट्रेस, टेस्ट और ट्रीट अभियान के साथ-साथ आशिंक कोरोना कर्फ्यू तथा टीकाकरण के अभिनव प्रयोग से प्रदेश में कोरोना का संक्रमण नियंत्रण में सफलता मिली है। प्रदेश में कोरोना संक्रमण नियंत्रण में हैं। आंशिक कोरोना कर्फ्यू के समय में औद्योगिक, आर्थिक गतिविधियां, चीने मिले और गेहूॅ खरीद निर्बाध रूप से चलते रहे। मा0 मुख्यमंत्री द्वारा 18 मण्डलों व 40 जनपदों में जाकर स्वंय गांव/शहर निगरानी समितियों से वार्ता, कन्टेनमेंट जोन/कोविड-19 से रिकवरी करने वाले से वार्ता और इन्ट्रीग्रेटेड कन्ट्रोल रूम तथा कोविड अस्पतालों में स्थलीय निरीक्षण भी कर चुके है।

उन्होंने बताया कि 3टी के करण ही 30 अप्रैल के एक्टिव मामले 3,10,783 घटकर आज 1188 तथा 30 अप्रैल के प्रतिदिन कोविड केस 38 हजार से घटकर आज 40 हो गये है। प्रदेश में सक्रिय मामले कम होने पर भी कोविड-19 के टेस्ट करने की संख्या घटाई नहीं की जा रही हैं। विगत 24 घंटों मेे 2,18,725 कोविड टेस्ट किये गये है। अब तक कुल 06,25,90,185 टेस्ट किये गये है। प्रदेश में कोविड टीकाकरण का कार्य तेजी से किया जा रहा है। अब तक लगभग 04 करोड़ 03 लाख कोविड की डोज दी जा चुकी है। उन्होंने बताया कि निगरानी समितियों के माध्यम से घर-घर सर्वेक्षण करके संक्रमण की जानकारी ली जा रही है तथा टेस्ट भी कराये गये, इसके साथ-साथ मेडिकल किट भी बांटी गयी है। उन्होंने बताया कि सर्विलांस के माध्यम से सरकारी मशीनरी द्वारा उत्तर प्रदेश की 24 करोड़ की जनसंख्या में से अब तक लगभग 17.23 करोड़ से अधिक लोगों से उनका हालचाल जाना गया है।

श्री सहगल ने बताया कि संभावित कोविड की तीसरी लहर के तहत मेडिकल कॉलेज में 6400 तथा सरकारी अस्पतालों में 1300 से अधिक पीकू बेड की व्यवस्था की गयी है। प्रदेश में भविष्य में ऑक्सीजन की कमी न हो उसकी व्यवस्था प्राथमिकता के आधार पर की जा रही है। प्रदेश में 548 ऑक्सीजन प्लांट में से अबतक 179 से अधिक प्लांट क्रियाशील हो गये है तथा शेष क्रियाशील हो जायेंगे। उन्होंने बताया कि आज टीम-9 की बैठक में मा0 मुख्यमंत्री ने जो नये मेडिकल कॉलेज का प्रस्तावित उद्घाटन मा0 प्रधानमंत्री जी के कर कमलों द्वारा होना है उसकी भी समीक्षा की है।

श्री सहगल ने बताया कि कॉवड़ संघों द्वारा स्वयं ही इस वर्ष यात्रा को स्थगित करने का निर्णय लिया गया है। माननीय उच्चतम न्यायालय ने उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा जो शपथ पत्र दिये गये है उनकों स्वीकार कर लिया गया है।

श्री सहगल ने बताया कि 23 जुलाई, 2021 को मुख्यमंत्री बेसिक शिक्षा के चयनित लगभग 6000 शिक्षकों को नियुक्ति पत्र वितरण करेंगे। इसके साथ ही 69000 शिक्षकों की नियुक्ति की प्रक्रिया थी वो भी इसके साथ पूरी हो जायेगी। पिछले वर्षों में जो अवशेष पदों के लिये पुनः नये तरीके से प्रक्रिया की जायेगी। मिशन रोजगार के अन्तर्गत निष्पक्ष और पारदर्शी तरीके से सरकारी नियुक्तियों की तैयारियां उत्तर प्रदेश सरकार ने शुरू की और उन्हें समय से पूरा कराया जायेगा। चयन प्रक्रिया में किसी भी प्रकार की अनियमितता नहीं होने दी जायेगी।

.