आखिरी आरोपी दरोगा विजय यादव भी गिरफ्तार,एक लाख का था इनाम,अरेस्ट स्टे के लिए हाईकोर्ट में दी थी अर्जी

0
117
.

डेस्क न्यूज। कानपुर के प्रापर्टी डीलर मनीष गुप्ता हत्याकांड में आखिरी आरोपी दरोगा विजय दरोगा को भी गोरखपुर पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है । हालांकि गिरफ्तारी से बचने के लिए एक लाख के इनामी दरोगा ने हाईकोर्ट में पुलिस की एफआईआर को ही चुनौती दी थी।

शनिवार को कैंट पुलिस ने दरोगा को रेल म्यूजियम के पास से गिरफ्तार कर लिया। हालांकि इस मामले में 5 अन्य आरोपित पुलिस वाले पहले ही गिरफ्तार किए जा चुके हैं। गिरफ्तार दरोगा विजय यादव को पुलिस SIT के हवाले कर दिया ।

गौरतलब है कि मनीष गुप्ता हत्याकांड में रामगढ़ताल थाने पर तैनात इंस्पेक्टर जेएन सिंह, दरोगा अक्षय मिश्रा, दरोगा राहुल दुबे, मुख्य आरक्षी कमलेश यादव, आरक्षी प्रशांत कुमार और दरोगा विजय यादव को हत्यारोपी बनाया गया था। अब तक पुलिस इनमें से पांच आरोपितों को गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है।

जबकि जौनपुर के रहने वाला दरोगा विजय यादव अभी फरार चल रहा था। उसे पकड़ने के लिए पुलिस की 16 टीमें दबिश दे रही थी। उधर फरार दरोगा ने पुलिस को ही पार्टी बनाते हुए हाईकोर्ट में अरेस्ट स्टे के लिए पुलिस की एफआईआर को चुनौती दी थी।

सभी 6 आरोपी गिरफ्तार

मृतक मनीष गुप्ता की पत्नी मीनाक्षी गुप्ता ने कहा था कि उन्हें गोरखपुर पुलिस पर भरोसा नहीं है। इसपर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस मामले की जांच कानपुर SIT को सौंपी थी। SIT ने अब तक इस मामले का राजफाश तो कर दिया, लेकिन इनमें से एक भी आरोपित को SIT गिरफ्तार नहीं कर सकी। सभी 6 आरोपितों को गिरफ्तार कर पुलिस इस मामले में अपनी धूमिल हुई छवि सुधारने की कोशिश कर रही।

यह था घटनाक्रम

27 सितंबर की देर रात गोरखपुर के होटल में पुलिस वालों पर मनीष को पीट-पीटकर मारने का आरोप लगा।
28 सितंबर को पोस्टमॉर्टम के बाद तीन पुलिसकर्मियों के खिलाफ हत्या की FIR, 6 को सस्पेंड किया गया।
29 सितंबर की सुबह परिजन शव लेकर कानपुर पहुंचे। सीएम से मिलने की जिद पर अड़े थे। अंतिम संस्कार करने से भी इनकार किया।
30 सितंबर सुबह 5 बजे मनीष का अंतिम संस्कार किया गया।
10 अक्टूबर की शाम रामगढ़ताल पुलिस ने इंस्पेक्टर जेएन सिंह और दरोगा अक्षय मिश्रा को किया गिरफ्तार।
12 अक्टूबर को पुलिस ने दरोगा राहुल दुबे और कांस्टेबल प्रशांत कुमार को गिरफ्तार किया।
13 अक्टूबर को पुलिस ने मुख्य आरक्षी कमलेश यादव को किया था गिरफ्तार।

 

.