औरैया :- दीपक बनकर शहजाद ने की शादी, अब बना रहा धर्म परिवर्तन का दवाब

0
111
Shahzad got married becoming deepak
.

औरैया :- जिले में धर्म परिवर्तन को लेकर दबाव बनाने का एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। ऐसा बताया जा रहा है कि हिंदू धर्म की महिला से मुस्लिम युवक शहजाद ने दीपक बनकर शादी की और फिर दस साल बाद वह धर्म परिवर्तन करने का दबाव बनाने लगा। हैरान करने वाली बात तो यह है कि वह पहले से शादीशुदा है और यह बात पीड़िता को दस साल बाद पता चला। पीड़ित महिला ने पुलिस से शिकायत की है, जिसके बाद इस मामले को लेकर जांच कर कार्रवाई का आश्वासन दिया गया है।

कीमती सामान किया गायब

जानकारी के अनुसार पीड़ित महिला सपना झांसी की निवासी है। यहीं पर वह छोटा-मोटा काम करके अपना बसर किया करती थी। झांसी में ही औरैया का रहने वाला शख्स उसे मिला और उसने अपना नाम दीपक बताया। धीरे-धीरे दोनों के बीच रिश्ता बन गया और फिर यह लोग एक साथ जिंदगी बिताने लगे। पीड़ित महिला का कहना यह भी है कि आरोपी युवक ने उसके पैसों के साथ-साथ कीमती सामान भी गायब कर दिया है। शादीशुदा मुस्लिम लड़के ने बहुत ही चालाकी से हिंदू महिला के साथ प्रेम विवाह कर लिया और फिर दस साल पत्नी की तरह रखने के बाद वह अपनी पहली पत्नी के पास चला गया।

पहली शादी से अंजान थी पीड़ित महिला

पीड़िता जब युवक के घर पहुंची तो उसके साथ युवक के घरवालों ने मारपीट की। उसका कहना है कि शहजाद के घरवाले कह रहे है कि धर्म परिवर्तन करो तभी स्वीकार करेंगे। इसकी शिकायत पीड़िता ने कोतवाली में की। झांसी शिवाजी नगर निवासी सपना ने पुलिस को बताया कि औरैया निवासी शहजाद राइन से दस साल पहले प्रेम विवाह किया ता पर वह शादीशुदा है। वह इस बात से अंजान थी और वह दस साल तक उसकी पत्नी बनकर रही।

पुलिस ने जांच कर कार्रवाई का आश्वासन दिया

इतना ही नहीं आरोपी युवक ने महिला के जेवर लेकर भी सुनार के यहां गिरवी रख दिए ताकि वह धंधा शुरू कर सके। वह औरैया आता जाता था पर वह झांसी वापस आ जाता था। मगर इस बार छह महीने से वह वापस नहीं आया और न उसका फोन लग रहा है। इस वजह से उसकी तलाश शुरू की तो पता चला कि शहजात एसपी आवास स्थिति काशीराम कॉलोनी में रह रहा है। उसके जब घर गई तो वह छिप गया और उसकी पहली पत्नी समेत परिवार के अन्य सदस्यों ने मारपीट की। पीड़िता काफी बहुत परेशान है और घटना की तहरीर दी है। पुलिस ने जांच कर कार्रवाई का आश्वासन दिया है।

.