Sridevi Death Anniversary: आखिर कैसे हुई थी श्रीदेवी की मौत? पति बोनी कपूर ने बताई उस रात से जुड़ी हर एक बात…

0
363
.

बॉलीवुड डेस्क. Sridevi Death Anniversary: फिल्म ‘सदमा’ की याददाश्त खोई हुई मासूम लड़की का किरदार हो या फिर फिल्म ‘मिस्टर इंडिया’ में हवा हवाई गाकर अपने चुलबुले पन से दर्शकों को सिनेमा के जादू का अहसास करवाने की बात, श्रीदेवी (Sridevi) ने सिल्वर स्क्रीन पर निभाए अपने हर किरदार से करोड़ों दर्शकों के दिलों में आज भी जिंदा है।

बॉलीवुड की पहली फीमेल सुपरस्टार कही जाने वालीं श्रीदेवी (Sridevi) ने 24 फरवरी 2018 को इस दुनिया को अलविदा कह दिया था। श्रीदेवी (Sridevi) की दुबई के एक होटल के कमरे के बाथटब (Bathtubs) में डूबने से मौत हो गई थी। श्रीदेवी (Sridevi) की मौत से हर कोई हैरान रह गया था और जानना चाहता था कि आखिर उस रात हुआ क्या था। उस पूरी रात के बारे में श्रीदेवी (Sridevi) के पति बोनी कपूर (Boney Kapoor) ने उनके दोस्त ट्रेड एनालिस्ट कोमल नाहटा (Trade analyst Komal Nahta) से अपने दिल की बात कही थी।

शादी के लिए दुबई पहुंची थीं श्रीदेवी (Sridevi)

याद दिला दें कि बोनी, श्रीदेवी (Sridevi) और खुशी एक पारिवारिक शादी समारोह के लिए दुबई पहुंचे थे, जो 20 फरवरी को संपन्न हो गई थी। बोनी की लखनऊ में एक बैठक थी, जिसके लिए वह भारत लौट आए थे। श्रीदेवी (Sridevi) ने दुबई में ही रुकना तय किया था क्योंकि उन्हें जाह्नवी के लिए शॉपिंग करनी थी। नाहटा ने लिखा था, “जाह्नवी की शॉपिंग लिस्ट श्रीदेवी (Sridevi) के फोन में थी, लेकिन वह 21 फरवरी को शॉपिंग करने नहीं जा सकीं क्योंकि उनका फोन रस-अल-खाइमाह में छूट गया था। दिन का ज़्यादातर समय उन्होंने अपने होटल रूम में रिलैक्स करते हुए बिताया।”

24 फरवरी की सुबह हुई थी बोनी और श्रीदेवी (Sridevi) की बात

बोनी ने नाहटा (Komal Nahta) को बताया, “24 फरवरी की सुबह मेरी श्रीदेवी (Sridevi) से बात हुई, जब उसने मुझे बताया, ‘पापा (श्रीदेवी (Sridevi) बोनी को यही बुलाती थीं), मैं आपको मिस कर रही हूं।’ लेकिन मैंने उन्हें नहीं बताया कि मैं शाम को उनसे मिलने दुबई आ रहा हूं। जाह्नवी भी चाहती थी कि मैं दुबई आऊं क्योंकि उसे डर था कि उसकी मां, जिन्हें अकेले रहने की आदत नहीं थी, अपना पासपोर्ट या कोई ज़रूरी दस्तावेज़ खो सकती थीं।”

बोनी (Boney Kapoor) ने दिया सरप्राइज

नाहटा (Komal Nahta) ने लिखा है कि बोनी ने श्रीदेवी (Sridevi) को दुबई के जुमेराह एमिरेट्स टावर्स होटल पहुंचकर सरप्राइज दिया था। बोनी ने होटल से डुप्लिकेट चाभी लेकर श्रीदेवी (Sridevi) का कमरा खोला था। नाहटा ने बोनी के हवाले से लिखा था, “दोनों टीनएज प्रेमियों की तरह गले लगे। ” नाहटा के मुताबिक, बोनी ने सुबकते हुए उन्हें बताया था, “उन्होंने (श्रीदेवी (Sridevi) ने) मुझसे कहा कि उन्हें अंदाज़ा था कि मैं उनसे मिलने दुबई आ सकता हूं।” दोनों गले लगे, चूमा और करीब आधे घंटे तक बातें कीं। इसके बाद बोनी फ्रेश होने चले गए, बाथरूम से बाहर आकर उन्होंने प्रस्ताव दिया कि दोनों को रोमांटिक डिनर पर जाना चाहिए। उन्होंने श्रीदेवी (Sridevi) से निवेदन किया कि वो अगले दिन शॉपिंग करना कैंसिल कर दें। वापसी की टिकट फिर बदली जानी थीं क्योंकि दोनों ने अब 25 की रात को भारत लौटना तय किया था। शॉपिंग के लिए 25 को दिन में काफी समय मिल सकता था। श्रीदेवी (Sridevi) अब भी रिलैक्स करने के मूड में थीं। रोमांटिक डिनर के लिए तैयार होने के लिए वह नहाने चली गईं।

नहाने और तैयार होने के लिए गई थीं श्रीदेवी (Sridevi)

बोनी (Boney Kapoor) ने नाहटा (Komal Nahta) को बताया था, “मैं लिविंग रूम में चला गया जबकि श्रीदेवी (Sridevi) मास्टर बाथरूम में नहाने और तैयार होने चली गईं।” लिविंग रूम में बोनी दक्षिण अफ्रीका और भारत के क्रिकेट मैच का अपडेट लेने के लिए टीवी चैनल बदलने लगे, फिर वह पाकिस्तान सुपर लीग के एक मैच की हाइलाइट्स देखने लगे। उन्होंने 15-20 मिनट तक मैच देखा, लेकिन फिर उन्हें यह फिक़्र होने लगी कि शनिवार को सभी रेस्टोरेंट्स में भीड़ होगी। तब करीब आठ बज रहे होंगे, ऐसे में बोनी ने श्रीदेवी (Sridevi) को लिविंग रूम से ही आवाजें दीं, उन्होंने दो बार श्रीदेवी (Sridevi) को बुलाया, फिर उन्होंने टीवी की आवाज़ धीमी कर ली, तब भी कोई जवाब नहीं आया, फिर वह बेडरूम में गए, बाथरूम का दरवाज़ा खटखटाया और फिर उन्हें आवाज़ दी। अंदर से पानी का टैप खुला होने की आवाज़ सुनकर उन्होंने फिर “जान, जान” कहकर आवाज़ दी।

Sridevi Death Anniversary

बाथटब (Bathtubs) में डूबी थीं श्रीदेवी (Sridevi)

नाहटा (Trade analyst Komal Nahta) ने आगे बताया था कि जब श्रीदेवी (Sridevi) का कोई जवाब नहीं आया तो बोनी घबरा गए और उन्होंने धक्का देकर दरवाजा खोला। दरवाजा अंदर से बंद नहीं था, बोनी थोड़े घबराए हुए थे लेकिन जो दृश्य उनकी आंखों के आगे आने वाला था, उसके लिए वह तब भी तैयार नहीं थे। बाथटब (Bathtubs) पानी से पूरा भरा हुआ था और श्रीदेवी (Sridevi) उसमें पूरी डूबी हुईं थीं, सिर से लेकर अंगूठे तक। वह तेजी से उन तक पहुंचे लेकिन श्रीदेवी (Sridevi) के शरीर में कोई हलचल नहीं हो रही थी। नाहटा ने आखिर में लिखा था, “जो कुछ हुआ, उसके लिए कोई तैयार नहीं था। वह पहले डूबीं, फिर बेहोश हुईं या पहले बेहोश हुईं, फिर डूबीं, शायद किसी को पता नहीं लगेगा। बाथटब (Bathtubs) से थोड़ा सा भी पानी नीचे नहीं गिरा था। श्रीदेवी (Sridevi) को शायद एक मिनट के लिए भी संघर्ष करने का वक्त नहीं मिला, क्योंकि अगर उन्होंने डूबते हुए अपने हाथ-पांव चलाए होते तो थोड़ा पानी टब से बाहर ज़रूर होता, लेकिन फ्लोर पर बिल्कुल पानी नहीं था।”

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here