सुशांत सिंह राजपूत 100 इंडियन स्टूडेंट्स को नासा भेजना चाहते थे, 2017 में की थी इस पहल की शुरुआत

0
51
.

वंगत एक्टर सुशांत सिंह राजपूत अधिक से अधिक इंडियन स्टूडेंट्स को हायर एजुकेशन प्राप्त करना चाहते थे। मुंबई के स्टूडेंट, भूषण सावंत इस बात का प्रूफ देते हुए बताते हैं कि सुशांत 100 स्टूडेंट्स को नासा भेजना चाहते थे। एक इंटरव्यू के दौरान उन्होंने अपनी पहली मुलाकात को याद किया और बताया कि उन्होंने 2017 में की थी इस पहल की शुरुआत।

सुशांत ने बच्चों को नासा की एक स्पॉन्सर्ड ट्रिप दी थी

भूषण बताते हैं, “हम 9वीं कक्षा में थे जब 2017 में सुशांत सिंह राजपूत के दोस्त विनय हमारे स्कूल में आए थे, उन्होंने हमारा टेस्ट लिया, जिसमें हमसे हमारे फेवरेट सब्जेक्ट्स को लेकर क्वेश्चन पूछे गए और भविष्य में हम क्या बनना चाहते हैं यह पूछा गया था। हमें बताया गया था कि अगर हम सलेक्ट होते हैं तो हमें सुशांत सिंह राजपूत से मिलने का मौका मिलेगा और तब नासा की एक स्पॉन्सर्ड ट्रिप हमारे लिए एक सरप्राइज के रूप में आई थी।”

सुशांत ने भूषण को सही फॉर्मूला समझाया था

भूषण आगे बताते हैं, “मुझे पता था कि वो एक एक्टर थे, लेकिन मुझे नहीं पता था कि वो एक बड़े स्टार थे। उनसे मिलने से पहले मैंने उनकी एक फिल्म ‘राब्ता’ देखी थी।” सुशांत से पहली बार मिलने के बारे में बात करते हुए वे कहते हैं, “हमारा बच्चों का एक ग्रुप था जो सुशांत सर से एक होटल में मिला था, वहां उन्होंने हमारा इंटरव्यू लिया और हमारे फेवरेट सब्जेक्ट्स के बारे में सवाल पूछा। मुझे याद है कि जब मैंने गलत फॉर्मूला लिखा था तब सुशांत सर ने मुझे बैठाकर सही फॉर्मूला दिखाया और मुझे समझाया भी था।”

100 स्टूडेंट्स को नासा भेजना चाहते थे सुशांत

भूषण ने कहा, “हमें नासा की ट्रिप के सलेक्शन के बारे में कुछ भी नहीं बताया गया था, यह हमारे लिए एक बड़े सरप्राइज की तरह था।” सुशांत सिंह राजपूत द्वारा नासा भेजे जाने वाले पहले दो स्टूडेंट्स भूषण और सेल्विन मकवाना थे। भूषण भावुक हो कर कहते हैं, “यह वास्तव में बहुत दुखद है कि उनका निधन हो गया है। आप जानते हैं कि वो स्टूडेंट्स को नासा भेजने के प्रोग्राम को जारी रखना चाहते थे। सेल्विन मकवाना और मैं पहले बैच से थे। उनका प्लैन 100 स्टूडेंट्स को भेजने का था।”

नासा से लोटने के बाद सुशांत से कभी नहीं मिल पाए भूषण

भूषण बताते हैं कि नासा की उनकी ट्रिप एक यादगार ट्रिप थी, हालांकि लौटने के बाद उन्हें सुशांत से मिलने का मौका नहीं मिला, जिसका उन्हें बहुत दुख है। भविष्य के लिए उनकी योजनाओं के बारे में पूछे जाने पर भूषण कहते हैं, “मैं एस्ट्रोनॉमी में स्पेशलाइजेशन करना चाहता हूं।”

.