तालिबान ने किया पंजशीर पर कब्जे का दावा

0
169
.

काबुल। हाल ही में सोशल मीडिया पर वायरल हो रही तालिबानियों की एक फोटो से यह जाहिर हो रहा है कि उन्होंनें पंजशीर पर अपना कब्जा जमा लिया हैैै। फोटो में तालिबान के आतंकी अपने नेताओं के साथ पंजशीर प्रोवेंशियल गवर्नर कंपाउंड के गेट पर खड़े हैं और उनके पीछे तालिबान का झंडा लगा हुआ नजर आ रहा है।इस बारे में तालिबान विरोधी गुट के नेता अहमद मसूद की तरफ से कोई बयान नहीं आया है। तालिबान ने पंजशीर पर कब्‍जे का दावा किया है।साथ ही तालिबान के प्रवक्‍ता जबीहुल्‍ला मुजाहिद ने कहा है कि तालिबान ने रेजिस्टेंस फोर्स के हाथों से पंजशीर का आखिरी इलाका भी जीत लिया है।

इससे पहले खबर आई थी कि पंजशीर में एनआरएफए ने संघर्ष विराम की घोषणा की है। इसकी घोषणा यहां से तालिबान की वापसी के आह्वान के बाद की गई है। आपको बता दें कि पिछले करीब दो सप्‍ताह से भी अधिक समय से तालिबान इस घाटी को अपने कब्‍जे में लेने के लिए अहमद मसूद और अफगानिस्‍तान के पूर्व उप राष्‍ट्रपति अमरुल्‍लाह सालेह की संयुक्‍त फौज के साथ जंग कर रहा था।

 

तालिबान के पंजशीर पर कब्‍जे के दावे के बाद सालेह-मसूद की बढ़ सकती है परेशानी

बताया जा रहा है कि एनआरएफए के नेता अहमद मसूद ने पंजशीर घाटी में लड़ाई खत्म करने के लिए उलेमा परिषद के बातचीत के प्रस्ताव का स्वागत किया है। एनआरएफए के फेसबुक पेज पर मसूद ने लिखा कि शांति स्थापना के लिए फ्रंट तत्काल लड़ाई बंद करने के लिए तैयार है। साथ ही तालिबान भी पंजशीर और पड़ोसी अंदराब प्रांत में हमले बंद करे। उलेमा परिषद ने तालिबान से भी लड़ाई बंद करने की अपील की है।

तालिबान और एनआएफए दोनों ही लगातार इस बात की घोषणा कर रहे थे कि उन्‍होंने इस लड़ाई में विरोधी गुटों के कई आतंकियों को जंग में मार गिराया है। तालिबान ने रविवार को ही कहा था कि उसने पंजशीर के कुछ जिलों पर कब्‍जा जमा लिया है। एनआरएफए की तरफ से यहां तक कहा गया था कि उन्‍होंने तालिबान के करीब 600 आतंकी मार गिराए हैं और एक हजार से अधिक आतंकियों ने सरेंडर किया है। अमेरिका सेना के एक जनरल ने यहां तक कहा है कि अफगानिस्‍तान के मौजूदा हालात देश को गृहयुद्ध की तरफ ले जा सकते हैं।

.