कानपूर :- डेढ़ साल तक घर में रखा बेटे का शव, रोज बदलते थे कपड़े, जाने कैसे हुआ खुलासा?

0
206
The son's body was kept in the house
.

The son’s body was kept in the house कानपूर :- एक बेहद ही हैरान करने वाला मामला सामने आया है. यहां एक परिवार डेढ़ साल तक शव को घर में रख उसका सेवा करता रहा. हर रोज कपड़े और बिस्तर बदलते, मालिश करते और डेटॉल से सफाई करते रहते. परिवार को यकीन ही नहीं था कि वह मर चुका है. सभी उसे बीमार मान रहे थे. परिवार के 10 से ज्यादा सदस्य शव के साथ रहते रहे. उनका मानना था कि उनका इनकम टैक्स अधिकारी बेटा अभी जिंदा है.

The son’s body was kept in the house लोगो को बताया बेटा कोमा में है

ये पूरा मामला मामला छपेड़ा पुलिया स्थित शिवपुरी इलाके का है. परिवार ने लोगों को बताया था कि उनका बेटा विमलेश कुमार कोमा में है. हालांकि, अस्पताल ने डेढ़ साल पहले ही उनका डेथ सर्टिफिकेट जारी कर दिया था. कोरोना की दूसरी लहर में 22 अप्रैल 2021 को विमलेश की मौत हो गई थी. 23 अप्रैल की सुबह अंतिम संस्कार की प्रक्रिया शुरू हुई. अचानक परिजनों ने यह कहकर अंतिम संस्कार को मना कर दिया कि विमलेश को होश आ गया है. हाथ में ऑक्सीमीटर लगाया तो पल्स रेट और ऑक्सीजन लेवल बताने लगा. परिवार को भरोसा था कि विमलेश मरा नहीं, वह कोमा में है.

ऐसे हुआ खुलासा

इस पूरे मामले का खुलासा उस वक्त हुआ, जब शुक्रवार को आयकर विभाग की टीम विमलेश के घर पहुंची. दरअसल, विमलेश लगातार ड्यूटी पर नहीं जा रहा था. आयकर विभाग की टीम उनकी तलाश करते हुए घर तक पहुंची. वहां टीम ने जो देखा उसे देख सब हैरान रह गए. विमलेश की लाश ममी जैसी बन चुकी थी.

.