केंद्रीय मंत्री नारायण राणे की बढ़ सकती हैं मुश्किलें

0
75
.

मुंबई: महाराष्ट्र(Maharashtra) बीजेपी(BJP) के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय मंत्री नारायण राणे(Narayan Rane) की मुश्किलें फिर से बढ़ती हुई नजर आ रही है। दरअसल नारायण राणे और उनके बेटे और बीजेपी विधायक नितेश राणे(Nitesh Rane) ने दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत(Sushant Singh Rajput) की पूर्व मैनेजर दिशा सालियान(Disha Salian) की मौत को लेकर बयान दिए थे। जिसपर दिशा के मां- बाप ने नाराजगी जाहिर की थी। इस मामले में राज्य महिला आयोग ने भी मालवणी पुलिस स्टेशन की जांच के लिए कहा था। परिवार की शिकायत के बाद पिता- पुत्र पर मुकदमा भी दर्ज किया गया था। गए बयानों के बाद अब उनकी मुश्किलें बढ़ती हुई नजर आ रही हैं। अब इस मामले में पूछताछ के लिए मालवानी पुलिस स्टेशन ने केंद्रीय मंत्री को समन भेजा है। मुंबई पुलिस(Mumbai Police) ने राणे से पुलिस स्टेशन में आकर बयान दर्ज करवाने का अनुरोध किया है। इस बाबत उन्हें 4 मार्च को सुबह 11 बजे पुलिस स्टेशन में हाजिर रहने को कहा गया है। वहीं नितेश राणे को भी इस मामले में 3 मार्च के दिन सुबह 11बजे पुलिस स्टेशन में बयान दर्ज करवाने के लिए आने के लिए कहा गया है।

पुलिस के अनुसार, दिशा की मां की शिकायत पर मालवणी पुलिस ने आईपीसी की धारा 500, 509 और आईटी ऐक्ट 67 के तहत मामला दर्ज किया है। दिशा की मां ने आरोप लगाया है कि सुशांत सिंह राजपूत प्रकरण के दौरान दिशा के बारे अनाप-शनाप बयान देकर इन नेताओं ने उनकी बेटी को बदनाम किया था। इस मामले में महाराष्ट्र राज्य महिला आयोग की अध्यक्षता रूपाली चाकणकर ने कहा कि दिशा की ऑटोप्सी रिपोर्ट के अनुसार दिशा के साथ दुष्कर्म नहीं हुआ था और वह गर्भवती भी नहीं थीं। इसलिए नारायण राणे और विधायक नितेश राणे के खिलाफ दिशा की मौत के बारे में झूठी और बेबुनियाद जानकारी देने के आरोप में पुलिस को कार्रवाई करनी चाहिए।

नारायण राणे ने लगाया था आरोप
केंद्रीय मंत्री और बीजेपी नेता नारायण राणे ने कुछ दिनों पहले दिशा सालियान और सुशांत सिंह राजपूत की मौत को लेकर कई सवाल उठाए थे। उन्होंने कहा था कि दिशा सालियान की पोस्टमार्टम रिपोर्ट नहीं आई है। लेकिन मुझे पता है कि जिस डॉक्टर ने पोस्टमार्टम किया था वह हमारे परिचित हैं, हमें सारी जानकारी है। राणे ने यह भी कहा कि सुशांत सिंह राजपूत घर के पर सावन नाम का एक शख्स रहता था, वो अचानक गायब हो गया कैसे हुआ? उन्होंने यह भी कहा कि दिशा सालियन की इमारत का वॉचमैन भी गायब है, सोसाइटी के रजिस्टर के पन्ने गायब है। आखिर ऐसा क्यों? राणे ने आरोप लगाया था कि दिशा सालियान की आत्महत्या का मामला अभी तक खत्म नहीं हुआ है। अबतक इदिशा सालियन की मौत के जरिये केंद्रीय मंत्री नारायण राणे और उनके विधायक बेटे नितेश राणे लगातार शिवसेना और महाविकास अघाड़ी सरकार पर हमला बोलते रहते हैं। बीते दिनों की उन्होंने यह दावा किया था कि दिशा की मौत आत्महत्या नहीं बल्कि बलात्कार कर उसकी हत्या की गई है। उन्होंने यह भी दावा किया था कि उनके पास इस बाबत एवं सबूत भी हैं।स मामले की जांच पूरी नहीं हुई। ऐसा क्यों हुआ?

पहले भी गिरफ्तार हुए थे राणे
बीजेपी के वरिष्ठ नेता नारायण राणे को इसके पहले पिछले साल अगस्त के महीने में गिरफ्तार किया गया था। यह मामला तब का है जब वे महाराष्ट्र के अलग-अलग हिस्सों में जन आशीर्वाद यात्रा निकाल रहे थे। इसी दौरान जब उनकी यात्रा रायगढ़ के महाड में पहुंची थी। तब पत्रकारों को संबोधित करते हुए उन्होंने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के संदर्भ में आपत्तिजनक बयान दिया था। उन्होंने कहा था कि यह कैसा मुख्यमंत्री है जिसको अपने देश के स्वतंत्रता दिवस का ही पता नहीं है। मैं यदि वहां होता तो कान के नीचे थप्पड़ लगा देता। इस बयान के बाद नारायण राणे के खिलाफ में पूरे राज्य में विरोध प्रदर्शन शुरू हो गया था और उनकी गिरफ्तारी की मांग उठने लगी थी। इसके बाद नासिक में उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया था और उनकी गिरफ्तारी हुई थी।

.