UP Corona Update: CM योगी ने Covid-19 से जुड़ी व्यवस्थाओं को प्रभावी ढंग से जारी रखने के दिए निर्देश…

0
55
.

लखनऊ. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश सरकार की प्रभावी रणनीति और निरन्तर प्रयासों से राज्य में कोरोना संक्रमण नियंत्रित स्थिति में है। कोरोना संक्रमण अभी समाप्त नहीं हुआ है। इसलिए थोड़ी लापरवाही भी भारी पड़ सकती है। उन्होंने कोविड-19 से बचाव और उपचार की व्यवस्था को प्रभावी ढंग से जारी रखने के निर्देश दिए हैं।

सीएम योगी आदित्यनाथ आज लोक भवन में आहूत एक उच्चस्तरीय बैठक में प्रदेश में कोविड-19 की स्थिति की समीक्षा कर रहे थे। बैठक में सीएम योगी को अवगत कराया गया कि पिछले 24 घण्टे में प्रदेश में कोरोना संक्रमण के 28 नए मामले सामने आए हैं। इस दौरान 34 व्यक्तियों को सफल उपचार के उपरान्त डिस्चार्ज किया गया।

वर्तमान में प्रदेश में कोविड के एक्टिव मामलों की संख्या 352 है। जनपद अलीगढ़, औरैया, बदायूं, देवरिया, फर्रुखाबाद, फतेहपुर, गोण्डा, हमीरपुर, हरदोई, कानपुर देहात, महोबा, मीरजापुर, सन्तकबीरनगर, तथा उन्नाव में कोविड का एक भी मरीज नहीं है। पिछले 24 घण्टे में प्रदेश में 1,56,524 कोरोना टेस्ट किये गए। अब तक राज्य में 07 करोड़ 08 लाख 85 हजार 900 कोविड टेस्ट सम्पन्न हो चुके हैं।

मुख्यमंत्री ने कोविड वैक्सीनेशन कार्य को पूरी सक्रियता से जारी रखने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि संक्रमण को नियंत्रित करने में कोविड वैक्सीनेशन एक महत्वपूर्ण सुरक्षा कवच है। उन्होंने कहा कि कोविड वैक्सीन की पहली डोज ले चुके सभी लोग समय पर दूसरी डोज भी अवश्य लें। इसके लिए लोगों को जागरूक किया जाए। बैठक में अवगत कराया गया कि अब तक प्रदेश में कुल 06 करोड़ 42 लाख 27 हजार से अधिक वैक्सीन डोज लगाई जा चुकी हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड की तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए सभी आवश्यक प्रबन्ध किये जाएं। उन्होंने कहा कि बच्चों की स्वास्थ्य सुरक्षा की दृष्टि से पीकू तथा नीकू की स्थापना तेजी से की जाए। बैठक में मुख्यमंत्री जी को अवगत कराया गया कि मेडिकल कॉलेजों में 6,600 से अधिक पीडियाट्रिक आई0सी0यू0 तथा आइसोलेशन बेड की व्यवस्था की जा चुकी है। इसी प्रकार स्वास्थ्य विभाग के अस्पतालों में 5,850 बेड तैयार किये गये हैं। उन्हें यह भी अवगत कराया गया कि कोविड की जरूरतों के अनुरूप वर्तमान में 56,000 आइसोलेशन बेड और 18,000 आई0सी0यू0 बेड उपलब्ध हैं। प्रदेश में अब तक स्वीकृत 555 ऑक्सीजन संयंत्रों में से 336 ऑक्सीजन संयंत्र क्रियाशील हो गए हैं।

.