UP COVID-19 NEWS,होम आइसोलेशन के कोविड मरीजों को मेडिकल किट शत-प्रतिशत उपलब्ध करायी जाए: मुख्यमंत्री

0
131
.

डेस्क न्यूज। प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि होम आइसोलेशन में रह रहे कोविड मरीजों को मेडिकल किट शत-प्रतिशत उपलब्ध करायी जाए। कोविड मरीजों को आवश्यकतानुसार हर हाल में अस्पताल में बेड उपलब्ध कराया जाए। सरकारी कोविड अस्पताल में बेड की उपलब्धता न होने पर उसे निजी अस्पताल में भर्ती कराया जाए। भुगतान न कर पाने की स्थिति में खर्च आयुष्मान भारत योजना की दरों पर राज्य सरकार वहन करेगी। उन्होंने कहा कि कोविड-19 की दूसरी लहर बड़ी चुनौती के रूप में उभर कर हम सभी के सामने आयी है। इसे सभी के सहयोग से एकजुटता के साथ मुकाबला करते हुए परास्त करना होगा। साथ ही, हमें कोविड के दृष्टिगत आने वाली नई चुनौतियों के लिए भी तैयार रहकर पर्याप्त व्यवस्थाएं सुनिश्चित करनी होंगी।

मुख्यमंत्री वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश के सभी वरिष्ठ पुलिस व प्रशासनिक तथा स्वास्थ्य अधिकारियों के साथ कोविड-19 की स्थिति, उपचार व बचाव के सम्बन्ध में समीक्षा कर रहे थे। इस अवसर पर उन्होंने जनपद गौतमबुद्धनगर, गाजियाबाद, वाराणसी, रायबरेली, मीरजापुर, आगरा, गाजीपुर, मेरठ, बरेली, फिरोजाबाद, गोरखपुर, कानपुर नगर, सुल्तानपुर, लखनऊ, प्रयागराज, मुजफ्फरनगर, अलीगढ़, मुरादाबाद, झांसी आदि के जिलाधिकारियों से संवाद किया। उनके जनपदों में कोविड-19 की स्थिति, प्रबन्धन बचाव व उपचार के सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त की और आवश्यक दिशा-निर्देश दिये।

सीएम निर्देश—

  • कोविड मरीजों को आवश्यकतानुसार अस्पताल में बेड उपलब्ध हो
  • कोविड-19 की दूसरी लहर बड़ी चुनौती के रूप में उभर कर हम सभी के सामने आयी है
  • कोविड की नई चुनौतियों के लिए भी तैयार रहकर पर्याप्त व्यवस्थाएं सुनिश्चित हो
  • फील्ड में तैनात अधिकारी निरन्तर सजग व सतर्क रहकर अपनी भूमिकाओं का निर्वहन करें
  • आंशिक कोरोना कर्फ्यू को सोमवार 10 मई प्रातः 07 बजे तक बढाया गया
  • प्रत्येक जनपद में उपलब्ध कराए गये सभी वेण्टीलेटर्स व आक्सीजन कन्सेन्टेटर को चालू हालत में रखा जाए
  • एनेस्थेटिक और तकनीशियन की व्यवस्था हर हाल में हो
  • बेड की उपलब्धता की स्थिति के सम्बन्ध में जानकारी उपलब्ध करायी जाए
  • निर्धारित दरों पर ही जांच व उपचार की व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जाएं
  • आक्सीजन की सप्लाई को मांग व आवश्यकता के अनुसार उपलब्ध कराया जा रहा है
  • प्रत्येक जनपद में एक आक्सीजन रीफिल सेन्टर होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों के लिए निर्धारित किया जाए
  • पुलिस लाइन्स, पी0ए0सी0 वाहिनी और पुलिस टेनिंग स्कूल आदि में कोविड जांच व उपचार की व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जाएं
  • अस्पतालों में विद्युत की आपूर्ति निरन्तर हो और फायर सेफ्टी के प्रबन्ध सुनिश्चित किए जाएं
  • एल-2 व एल-3 कोविड अस्पतालों में भर्ती मरीजों की स्थिति के सम्बन्ध में उनके परिजनों का निरन्तर बताया जाए
  • कोविड मरीजों से निरन्तर संवाद बनाया जाए, कोविड व नाॅन कोविड मरीजों के लिए टेलीकंसल्टेंसी की व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जाएं
  • नाॅन-कोविड मरीजों के उपचार के लिए प्रत्येक जनपद में एक डेडीकेटेड हाॅस्पिटल का संचालन किया जाए, जहां गम्भीर रोगों के इलाज की उच्चस्तरीय सुविधा उपलब्ध रहे
  • महिलाओं एवं बच्चों के उपचार के लिए प्रत्येक जनपद में जिला महिला चिकित्सालय को प्रभावी ढंग से संचालित करने के निर्देश
  • कोरोना संक्रमण से गांवों को सुरक्षित रखने के उद्देश्य से आज से प्रदेशव्यापी वृहद टेस्टिंग अभियान प्रारम्भ किया गया
  • निगरानी समितियों के माध्यम से घर-घर स्क्रीनिंग की जाए
  • होम आइसोलेशन वाले मरीजों को अनिवार्य रूप से मेडिकल किट उपलब्ध कराते हुए उन्हें अन्य सावधानियां बरतने की जानकारी दी जाए
  • प्रदेश में रेमडेसिविर सहित सभी जीवनरक्षक दवाओं की उपलब्धता सुनिश्चित कराई जा रही है
  • ‘108’ एम्बुलेंस सेवा की 75 प्रतिशत एम्बुलेंस का संचालन कोविड कार्य हेतु किया जाए
  • स्वच्छता, सैनिटाइजेशन तथा फाॅगिंग का कार्य युद्धस्तर पर किया जाए
.