यूपी: एक झपकी से मौत के मुॅह में समाया परिवार

0
58
.

फिरोजाबाद। मामला शुक्रवार सुबह आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे का है जहां एक दर्दनाक हादसें ने तीन लागो की जान लेली। कुशीनगर से आगरा जा रहे थे एचडीएफसी बैंक के मैनेजर और उनकी पत्नी व बेटी की सड़क हादसे में मौत हो गई। यह परिवार रात को कुशीनगर से निकला था।

डिवाइडर से टकराई कार

शुक्रवार सुबह कुशीनगर के थाना कंसिया क्षेत्र के रहीम नगर निवासी हर्षित पांडे (35 साल), पत्नी ज्योति (32 साल) और बेटी तान्या (4 साल) के साथ कार से आगरा जा रहे थे। वह आगरा के संजय प्लेस स्थित एचडीएफसी बैंक में मैनेजर के पद पर तैनात थे। बताया जा रहा है कि हर्षित अपनी कार से थाना नसीरपुर क्षेत्र के आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर पहुंचे ही थे कि अचानक उन्हें झपकी आ गई और उनकी कार डिवाइडर से टकराते हुए पलट गई। स्थानीय लोगों के अनुसार कार की रफ्तार इतनी तेज थी कि टकराने के बाद गाड़ी करीब चार पलटी खा गई।

शव को पोस्टमार्टम हाउस में रखवाया गया

स्थानीय लोगों ने बताया कि कार ने तीन बार सड़क पर पलटे लिए और इस हादसे में पति, पत्नी और बेटी की मौके पर ही मौत हो गई। मौके पर पहुंची पुलिस ने तीनों के शवों को पोस्टमार्टम हाउस भिजवा दिया है। शव को पोस्टमार्टम हाउस में ही रखवा दिया गया है और परिजनों का इंतजार किया जा रहा है। मृतक के पिता बेंगलुरु में बीएसएफ में सब इंस्पेक्टर के पद पर तैनात हैं।

आगरा में एसडीएफसी बैंक में कार्यरत हर्षित पांडे के साथी कर्मचारी महेंद्र त्यागी ने बताया कि वह 22 अगस्त को कुशीनगर के लिए निकले थे। उनके घर में कोई कार्यक्रम था। उस दौरान दो तीन दिन बैंक में छुट्‌टी थी बाकी उन्होंने छुटि्टयां ले रखी थीं। घर में कार्यक्रम अटेंड करके ही वह वापस आ रहे थे। वह रात को कुशीनगर से निकले थे, इसके बाद सुबह फिरोजाबाद में यह हादसा हो गया। चौधरी बताते हैं कि हर्षित बहुत ही मिलनसार व्यक्ति थे। इस हादसे पूरा दफ्तर गमगीन है।

.