मॉस्क चेकिंग अभियान के वायरल मैसेज को यूपी पुलिस ने बताया फर्जी, कहा- ऐसी अफवाह और भ्रामक खबरों पर ध्यान न दें

0
122
.

लखनऊ. सोशल मीडिया (Social Media) पर गुरुवार को उत्तर प्रदेश पुलिस (UP Police) द्वारा मास्क चेकिंग अभियान का मैसेज तेजी से वायरल हुआ. शुक्रवार को उत्तर प्रदेश पुलिस ने ट्वीट को फर्जी बताया और कहा कि ऐसा कोई अभियान यूपी पुलिस द्वारा नहीं चलाया जा रहा है. दरअसल, कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण (Corona virus infections) को रोकने के लिए मास्क (Mask) का प्रयोग सबसे कारगर उपाय है.

उत्तर प्रदेश पुलिस ने इस वायरल मैसेज पर सफाई दी. यूपी पुलिस ने ट्वीट कर कहा कि उत्तर प्रदेश पुलिस द्वारा मास्क चेकिंग का 30 दिन का ऐसा कोई भी अभियान नहीं चलाया जा रहा है, और न ही ऐसी कोई सूचना प्रसारित की गई है. अतः ऐसी भ्रामक खबरों पर ध्यान न दें, जो भी इस प्रकार की भ्रामकता फैलाएगा, उसके विरुद्ध आवश्यक विधिक कार्रवाई की जाएगी. इससे पहले सीएम योगी आदित्यनाथ ने सोशल मीडिया के माध्यम से फेक न्यूज अथवा समाज में वैमनस्य फैलाने वालों की सतत मॉनिटरिंग के भी निर्देश दिए हैं.

बता दें कि गुरुवार को उत्तर प्रदेश पुलिस के नाम से एक मैसेज वायरल हुआ. इस पोस्टर पर लिखा था कि ‘कल (26 फरवरी) प्रातः 9 बजे से यूपी के सभी थाना क्षेत्रों में मास्क चेकिंग का 30 दिनों तक अभियान चलाया जाएगा. सभी शहर और ग्रामवासी मास्क का प्रयोग करें और चालान की कार्रवाई से बचें, साथ ही 10 घंटे की अस्थायी कारावास ( जेल) सजा से भी बचें. वायरल पोस्टर में निवेदक के रूप में उत्तर प्रदेश पुलिस लिखा हुआ था. यह मैसेज देखते ही देखते सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हुआ.

 

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here