लखनऊ- STF की बड़ी कार्रवाई- बाइक बैंक घोटाले के आरोपी 50 हजार के इनामी बीएन तिवारी गोमतीनगर से गिरफ्तार…

0
180
up STF BN Tiwari of 50 thousand accused in bike bank scam arrested from Gomtinagar Lucknow news in hindi
.

लखनऊ. लंबे समय से फरार चल रहे 50 हजार के इनामी व बाइक बोट घोटाले (Bike Boat Scam) के मास्टरमाइंड बीएन तिवारी को STF ने गोमती नगर से गिरफ्तार किया है। बीएन तिवारी के खिलाफ नोएडा (Noida) और लखनऊ में बाइक बोट घोटाले (Bike Boat Scam) की एफआईआर (FIR) दर्ज है। बीएन तिवारी लाइव टुडे हिंदी न्यूज चैनल का मालिक भी है। बीएन तिवारी पर प्रदेश के इस बड़े घोटाले में करोड़ों की हेराफेरी का आरोप है। तिवारी को गिरफ्तार करने के बाद अब नोएडा (Noida) में पेश किया जाएगा।

बाइक बोट घोटाले (Bike Boat Scam) के आरोपी बीएन तिवारी से यूपी एसटीएफ की टीम उससे पूछताछ कर रही है। बीएन तिवारी के खिलाफ नोएडा (Noida) में बाइक बोट घोटाले (Bike Boat Scam) में दो दर्जन से अधिक एफआईआर (FIR) में से दो में आरोप पत्र भी दाखिल है। नोएडा (Noida) के साथ लखनऊ में भी बीएन तिवारी पर बाइक बोट घोटाले (Bike Boat Scam) की एक एफआईआर (FIR) दर्ज है। लंबे समय से फरार चल रहे बीएन तिवारी को यूपी एसटीएफ ने आज दबोच लिया। अब उसे नोएडा (Noida) के दादरी थाने में पेश किया जाएगा।

उत्तर प्रदेश एसटीएफ ने 3500 करोड़ रुपया के बाइक बोट घोटाले (Bike Boat Scam) में सबसे बड़ी गिरफ्तारी की है। एसटीएफ ने आज बीएन तिवारी को गिरफ्तार किया है। इस बड़े घोटाले में अब तक एक दर्जन से अधिक लोगों को गिरफ्तार करने वाली पुलिस ने भारी व्यवधानों के बाद भी आखिरकार बीएन तिवारी को गिरफ्तार किया है। 3500 करोड़ के बाइक बोट घोटाले (Bike Boat Scam) के सरगना बीएन तिवारी पर 50 हजार रुपया का इनाम भी घोषित किया गया था। इस बड़े घोटाले की जांच उत्तर प्रदेश पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा कर रही है। नोएडा (Noida) बाइक बोट घोटाले (Bike Boat Scam) में बीएन तिवारी के साथ बसपा नेता रहे संजय भाटी को मास्टरमाइंड भी माना जा रहा है।

गौरतलब है कि बाइक बोट घोटाला 3500 करोड़ रुपए का है। इसमें गर्वित इनोवेटिव प्रमोटर्स लिमिटेड (Garvit Innovative Promoters Limited) के खिलाफ इस घोटाले को लेकर नोएडा (Noida) में एफआईआर (FIR) दर्ज की गई। थीम गर्वित प्रमोटर्स लिमिटेड (Garvit Innovative Promoters Limited) ने बाइक बोर्ड नाम की एक स्कीम शुरू की थी। इस दौरान लोगों को पैसे डबल करने का आश्वासन दिया गया। घोटाले में हजारों की संख्या में लोगों के साथ ठगी की गई है और जिन लोगों से ठगी की गई है। उनमें ज्यादातर लोग मध्यमवर्गीय परिवार से ताल्लुक रखते हैं।

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here