यह कैसा राष्ट्रवाद है कि देश की महिलाओं को खाली सिलेंडर और राशन की पोटली थमा दिया- प्रियंका गांधी

0
56
priyanka gandhi
.

फर्स्ट आई न्यूज डेस्कः

गाजीपुर: जखनिया विधानसभा के शादियाबाद क्षेत्र में कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने कांग्रेस प्रत्याशी के समर्थन में जनसभा को संबोधित किया। इस मौके पर उन्होंने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि सोनभद्र में 13 आदिवासियों का नरसंहार किया गया था।

मुझे पता चला जिस तरह नरसंहार हुआ, उसमें पुलिस प्रशासन ने भूमाफिया की मदद की थी। उन्नाव में एक और महिला के साथ बलात्कार हुआ। हाथरस में एक दलित महिला के साथ बलात्कार किया गया। लखीमपुर खीरी में किसानों को एक मंत्री के पुत्र ने अपनी जीप से कुचला। ललितपुर में किसान की मौत खाद की लाइन में खड़े खड़े हो गई थी।

प्रदेश में बेरोजगारी चरम पर है

जहां-जहां अन्याय दिखा हमारी पार्टी ने आवाज उठाई। हमने आंदोलन चलाए। मैं इस तरह आपकी हमसफर बन गई और आप का संघर्ष मेरा संघर्ष बन गया। मैं समझ गई यहां की राजनीति भटक गई है। सबसे बड़ा प्रदेश आज खाई में है। बसपा सिर्फ एक जाति की बात कर रही है। सपा एक जाति और धर्म की बात कर रही है। भाजपा धर्म और राष्ट्रवाद की बात कर रही है। यहां समस्याएं बढ़ती चली जा रही हैं। बेरोजगारी चरम पर हैं। विपक्ष के नेता समझ चुके हैं कि आप को गरीब निर्भर बनाकर अपनी नीतियां सफल बना सकते हैं।

सभी पार्टियों को सबक सिखाओ

पीएम मोदी पर कटाक्ष करते हुए उन्होंने कहा कि यह कैसा राष्ट्रवाद है कि देश की महिलाओं को खाली सिलेंडर और राशन की पोटली थमा दिया। उन्हें शिक्षित करना और आत्मनिर्भर बनाने में कोई काम नहीं किया। आज देश को दिशा दिखाने वाला प्रदेश पीछे चला गया। कांग्रेस ने संस्थाएं जो बनाई थी सबको उन्होंने बेच डाला। अपने बड़े-बड़े उद्योगपति दोस्तों को आज के दिन में जो सरकार रोजगार नहीं दे सकती है वहां अपने को राष्ट्रवादी नहीं कह सकती। वो तो खुद कहते हैं की जनता ने मोदी जी का नमक खाया है। इन सब पार्टियों को आप लोग सबक सिखाओ।

जनता के लिए करो लड़ाई

प्रियंका ने कहा उत्तर प्रदेश में 3 साल पहले पार्टी ने मुझे प्रदेश का प्रभारी बनाया। उस समय कुछ मेरी ही पार्टी के बड़े नेताओं ने कहा कि यहां कुछ नहीं हो सकता। मैंने अपने भाई से बात की। मैंने उनसे पूछा आपके मन में क्या है। उस समय मेरे भाई राहुल गांधी कांग्रेस अध्यक्ष थे। उन्होंने कहा तुम उत्तर प्रदेश जाओ, कितना भी संघर्ष होगा तुम काम करना शुरू करो और याद रखो यह मत भूलो तुम्हारा एक ही काम है। जहां-जहां दुख पीड़ा है वहां-वहां जाकर जनता के लिए जनता से कंधा मिलाकर लड़ो।

.