Women’s Day 2021: कब और क्यों मनाया जाता है अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस? यहां जानें इसका पूरा इतिहास…

0
776
International Women's Day
.

लाइफस्टाइल डेस्क. Women’s Day 2021: अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस (International Women’s Day) आठ मार्च को दुनियाभर में मनाया जाता है। अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस की शुरुआत एक आंदोलन से हुई थी। इस दिन को मनाने का मुख्य उद्देश्य भी महिलाओं के अधिकारों को बढ़ावा देना है. आज विश्व की आधी आबादी इसे अपने अधिकार दिवस के जश्न के रूप में मनाती है।

International Women's Day 2021

 

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस का इतिहास

अंतरराष्‍ट्रीय महिला दिवस (International Women’s Day) को सबसे पहली बार वर्ष 1911 में आधिकारिक रूप से पहचान मिली थी। उसके बाद वर्ष 1975 में यूनाइटेड नेशन्‍स (संयुक्‍त राष्‍ट्र) ने अंतरराष्‍ट्रीय महिला दिवस 8 मार्च को मनाना शुरू किया। 1908 में न्‍यूयार्क में कपड़ा श्रमिकों ने हड़ताल कर दी थी। उनके समर्थन में महिलाएं खुलकर सामने आईं थीं। उन्‍हीं के सम्‍मान में 28 फरवरी 1909 के दिन अमेरिका में पहली बार सोशलिस्‍ट पार्टी के आग्रह पर महिला दिवस मनाया गया था। 1910 में महिलाओं के ऑफिस की नेता कालरा जेटकीन ने जर्मनी में इंटरनेशनल विमेंस डे मनाए जाने की मांग उठाई थी। उनका सुझाव था कि दुनिया के हर देश को वहां रहने वाली महिलाओं को आगे बढ़ने का मौका देना चाहिए।

International Women’s Day 2021

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस की थीम

इस वर्ष के लिए “अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस” की थीम “Women in leadership: an equal future in a COVID-19 world” (“महिला नेतृत्व: COVID-19 की दुनिया में एक समान भविष्य को प्राप्त करना”) रखी गयी है. यह थीम COVID-19 महामारी के दौरान स्वास्थ्य देखभाल श्रमिकों, इनोवेटर आदि के रूप में दुनिया भर में लड़कियों और महिलाओं के योगदान को रेखांकित करती है. अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस को थीम के साथ पहली बार 1996 में मनाया गया था. उस वर्ष संयुक्त राष्ट्र ने इसके लिए थीम रखी थी ‘अतीत का जश्न, भविष्य की योजना’.

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाने का उद्देश्य

“अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस” मनाने का सबसे महत्वपूर्ण उद्देश्य महिलाओं और पुरुषों में समानता बनाने के लिए जागरूकता लाना है. साथ ही महिलाओं को उनके अधिकारों के प्रति जागरूक करना है. आज भी कई देशों में महिलाओं को समानता का अधिकार प्राप्त नहीं है. महिलाएं शिक्षा और स्वास्थ्य की दृष्टि से पिछड़ी हुई है. साथ ही महिलाओं के प्रति हिंसा के मामले भी सामने आते रहते हैं. यही नहीं, नौकरी में जहां महिलाओं को पदोन्नति में बाधाओं का सामना करना पड़ता है, तो वहीं स्वरोजगार के क्षेत्र में भी महिलाएं पिछड़ी हुई हैं. जब 19वीं शताब्दी में महिला दिवस की शुरुआत की गई थी, तब महिलाओं ने मतदान का अधिकार प्राप्त किया था.

 

देश-विदेश में ऐसे मनाया जाता है महिला दिवस

भारत में इस दिन महिलाओं पर आधारित, अलग-अलग कार्यक्रमों का आयोजन होता है. लोग महिलाओं को शुभकामना सन्देश और तरह-तरह के तोहफे देते हैं. साथ ही नारी शक्ति पुरस्कार भी इस अवसर पर प्रदान किया जाता है. वहीं रूस, चीन, कंबोडिया, नेपाल और जार्जिया जैसे कई देशों में इस दिन अवकाश रहता है. चीन में बहुत सी महिलाओं को “अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस” के दिन काम से आधे दिन की छुट्टी दी जाती है.

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here