अपने पति से मिलने और एकसाथ जिंदगी बिताने की आस दिल में संजोए दुनिया छोड़ दी झांग क्विंग

0
98
chin omen
.
फर्स्ट आई न्यूज डेस्क:

बीजिंग: चीन के एक मानवाधिकार वकील की पत्नी की कैंसर की वजह से अमेरिका में मौत हो गई। 55 साल की झांग क्विंग 2009 में चीन की यातना के चलते अमेरिका चली गई थीं। वह वहीं से अपने पति यांग माओडांग की आजादी के लिए चीन की शी जिनपिंग सरकार से अपील करती रही थीं, मगर चीन ने उनकी अपील हर बार ठुकरा दी। अपने पति से मिलने और एकसाथ जिंदगी बिताने की आस दिल में संजोए ही क्विंग ने सोमवार को यह दुनिया छोड़ दी।

पति को भ्रष्टाचार के झूठे केस में फंसाकर बार-बार भेजा जेल
चीन की सरकार ने क्विंग के पति को भ्रष्टाचार के झूठे आरोपों में फंसाकर बार-बार जेल भेज दिया। जबकि, क्विंग के पति ने खुद भ्रष्टाचार के एक मामले का उजागर किया था। चीन की सरकार मानवाधिकार के बारे में बात करने वाले लोगों को पहले भी दबाती रही है। उनके पति पर एक गांव में भ्रष्टाचार करने का आरोप लगाया गया है। माना जाता है कि राष्ट्रपति शी जिनपिंग भ्रष्टाचार विरोधी अभियान के जरिये अपने विरोधियों का सफाया करने में जुटे हैं।

भ्रष्टाचार रोधी अभियान के बहाने विरोधियों का सफाया कर रही सरकार
जिनपिंग सरकार भ्रष्टाचार विरोधी अभियान चलाने के लिए जानी जाती रही है। माना जाता है कि इस अभियान के जरिये जिनपिंग अपने विरोधियों का सफाया करने में जुटे हैं। सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी के बड़े नेताओं को इसी अभियान के तहत सलाखों के पीछे पहुंचाया जा चुका है। जिनपिंग हर उस आवाज को दबा रहे हैं, जो उन्हें चुनौती दे सकती है।
पत्नी से आखिरी समय में मिलने जाना चाहते थे, मगर नहीं मिली मंजूरी
न्यूयॉर्क की एक संस्था ह्यूमन राइट्स वॉच ने कहा है कि झांग की मौत कोलोन कैंसर के अंतिम स्टेज में जाने की वजह से हुई। उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था, मगर उन्हें बचाया नहीं जा सका। महिला के पति यांग ने बीते साल जनवरी में चीन सरकार को खुला पत्र लिखकर पत्नी के इलाज कराने की अपील की थी और देश के बाहर पत्नी के पास जाने की इजाजत मांगी थी। हालांकि, चीन सरकार ने उनकी अपील ठुकरा दी थी।

क्विंग के पति ने अवैध रूप से जमीन बेचने का खेल किया था उजागर
अपने उपनाम गुओ फीक्सियोनग से भी जाने जाने वाले यांग एक लेखक और वकील हैं। उन्होंने चीन के दक्षिण में एक गांव के निवासियों को 2006 में स्थानीय कम्युनिस्ट पार्टी के नेता के खिलाफ संगठित करने में मदद की थी। कम्युनिस्ट पार्टी के इस नेता पर अवैध रूप से गांव की जमीनें बेचने का आरोप है। यांग काे फिलहाल कहां कैद कर रखा गया है, इस बारे में किसी को कोई जानकारी नहीं है। क्विंग भी अपने पति से कई महीनों से संपर्क नहीं कर पा रही थीं।

.